तुम शायर बड़े कमाल के हो…


तुम शायर बड़े काम के हो
अगर अपनी कीमत समझो तो
रुलाने से बेहतर काम होगा
अगर किसी को हँसा सको तो
❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️
तुम शायर बड़े काम के हो
क्योकि तुम हुए खुदगर्ज़ नहीं
लुटाई तुमने सिर्फ खुशिया
कभी किसी को दिया दर्द नहीं
🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰
तुम शायर बड़े काम के हो
अगर अपनी मेहनत समझो तो
कलम को तूने तलवार बनाया
युद्ध का मैदान बनाया पन्नो को
❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️
तीर चलाकर अपने शब्दों के
मार दिया तुमने सबके गम को
तुम्हारे अश्को के मोतियों ने
इलाज किये सबके ज़ख़्म को
🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰
तुम शायर बड़े काम के हो
जो लिखा दिल की अच्छाई को
नहीं लिखी तुमने झूठी बाते
लिखा दुनिया की सच्चाई को
❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️
सभी खोये रहे वाह वाहियों में
मैनें तुमको उस भीड़ में देखा नहीं
तुम्हें तालियों की गड़गड़ाहट में
अपनी खुशी ढूंढते कभी देखा नहीं
🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰
लिखा तुमने हमेशा से सिर्फ वो
जिसकी इस समाज को जरूरत हो
इसलिए तो अक्सर कहती हूँ कि
वाकई तुम शायर बड़े काम के हो
❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️
हाँ लिखे तुमने सच को झूठ भी
पर किसी रोते हुए को हँसाने को
दिन को भी तुमने रात कह दिया
अक्सर चाँद को दिन में बुलाने को
🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰
तुम शायर बड़े काम के हो
तुमने कलम से कई बदलाव किए
क्या सही है और क्या गलत
अपने शब्दों के जरिये चुनाव किए
❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️
हाँ कत्ल किये तुमने लेकिन
किसी निरपराध को बचाने को
रातो को तुमने सदा रोके रखा
दिन से ज्यादा शोर मचाने को
🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰🥰
अपनी कलम, शब्दों के जरिये
सीख देती रही मेहनत से कमाने को
खुद को मोम के जैसे जलाकर
सदा रौशन करती रही जमाने को
❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️❤️
तुम लाखो दवाओं की किताब हो
तुम एक महंगे पुष्प के नाम के हो
सोचते रही सदा दुसरो के बारे में
वाकई तुम शायर बड़े काम के हो
💕💕💕💕💕💕💕💕💕

2 Comments

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.