बड़ी उलझनों में है जिंदगी आपकी….


सुनो
💕💕💕💕💕💕
माना बड़ी उलझनों में है
उलझी जिंदगी आपकी
💕💕💕💕💕💕
बड़ी सादगी से फर्ज भी
निभा रही है जिंदगी आपकी
💕💕💕💕💕💕
हम कहा इलजाम लगाते है
आप पर लेकिन हम चाहते है
मोहब्बत आपकी
💕💕💕💕💕💕
हमे तो ये पता करना है
किस हद तक जा सकते हो
मेरी जान
💕💕💕💕💕💕
फसलों के दायरे में जिंदगी
आपकी
💕💕💕💕💕💕
लेकिन कभी खुद का हाले
दिल बयान ना कर पाओ ये
कैसी मोहब्बत आपकी
💕💕💕💕💕💕
जब तक आप कह न सकोगे
जिंदगी अपनी संवार ना
सकोगे
💕💕💕💕💕💕
कुछ तो कदम बढ़ाने होगे
है मोहब्बत तो साथ निभाने होगे
💕💕💕💕💕💕
कब तक आप यूं खामोश रहोगे
अपनी खुशियों से दूर रहोगे
💕💕💕💕💕💕
बड़ी कठिनाइयों में है जिंदगी
आपकी किस तरह से होगी
बसर जिंदगी आपकी
💕💕💕💕💕💕

– काव्य सागरिका

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.